अब तो बेजुबानों को भी सताने लगा प्रदूषण

Pollution starting to affect the birds also

गुरुग्राम: प्रदूषण की मार से न केवल इंसान बल्कि परिंदे भी आहत हैं। रौशनुपुरा स्थित पक्षी अस्पताल प्रदूषण से आहत बे जुबानों को देखा जा सकता हैं। चिकित्सकों के मुताबिक बीते एक सप्ताह के दौरान आधा दर्जन से अधिक ऐसे पक्षी आ चुके हैं जिन्हे प्रदूषण की वजह से देखने व सांस लेने संबंधी समस्या पाई गई हैं। बताया जा रहा है कि प्रदूषण का यही हाल रहा तो खुली हवा में बेखौंफ उड़ान भरने वाले बे जुबानों की तादात कम हो सकती हैं। ज्ञात हो कि बीते एक सप्ताह में गुरुग्राम सहित दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण की चपेट में आया हैं। स्थिति ऐसी हो रही है कि इसे रोकने को लेकर जिला प्रशासन से लेकर सरकारों में भी हलचल हैं। चिकित्सकों के मुताबिक प्रदूषण का सीधा असर जहां व्यक्ति के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है वही पक्षी भी अब इसके निशानें पर हैं। रौशनपुरा स्थिति पक्षी अस्पताल के चिकित्सक डॉ. राजकुमार ने बताया कि बीते 5 दिनों में आधा दर्जन से अधिक ऐसे पक्षी अस्पताल पहुंचाए जा चुके हैं जो प्रदूषण की बढ़ती समस्या के कारण सांस लेने व कमजोर आंखों की रौशनी के शिकार हो रहे हैं।

परिंदों को हो रही हैं यह समस्याएं

चिकित्सकों की मानें तो प्रदूषण की वजह से उड़ान भर रहे परिदों पर सीधा प्रदूषण का असर होता हैं। जिसकी वजह से उनकी आंखों में जलन होने के साथ पानी निकलने लगता हैं लेकिन परिंदें होने के कारण ये अपना इलाज नहीं करा पाते जिससे संक्रमण तेजी से बढ़ने लगता हैं। इसके अलावा कई परिदों में सांस लेने की समस्या पैदा हो रही हैं जिससे वे उड़ते- उड़ते गिर जा रहे हैं। अस्पताल में अब तक आधा दर्जन से अधिक पक्षी आए है जो चोट, कमजोर रौशनी व फेफड़े की बीमारी से ग्रसित हैं। समस्या से पीडि़त सबसे ज्यादा कबूतर, तोता व अन्य कई पक्षी अस्पताल लाए गए हैं।

बीमार होने का खतरा है बरकरार

विशेषज्ञों की मानें तो जल्द ही हालात नहीं सुधरे तो आने वाले दिनों में और भी पक्षियों के बीमार होने का खतरा हैं। उन्होने बताया कि फिलहाल ऐसे हालात नहीं दिख रहे है लोगों को बेजुबान परिंदों की खराब होती हालत पर दया दिखानी चाहिए। पीडि़त पक्षियों में मोर, कबूतर, बजरी, चील सहित तोते व अन्य पक्षियां शामिल हैं।

 

Web Title: Pollution starting to affect the birds also

Tags: #Pollution #Pollution affets on birds

संबंधित खबरें