भारतीय पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धांत गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने से एक कदम दूर

Mountaineer Satyarup Siddhanta
उत्तरी अमेरिका के ऊंचे ज्वालामुखी पर्वत माउंट पीको डि ओरिजाबा पर सफलतापूर्वक चढ़ाई करने के बाद सत्यरूप सिद्धांत

नई दिल्ली: पर्वतारोही सत्यरूप सिद्धांत गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की कगार पर है। जनवरी 2019 में वह सातों महाद्वीपों की सात चोटियों और सात ज्वालामुखी पर्वतों पर तिरंगा फहराने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति बन जाएंगे। सबसे कम उम्र में सात पर्वत शिखरों और सात ज्वालामुखी पर्वतों पर तिरंगा फहराने की उनकी उपलब्धि को गिनीज बुक में लिखा जाएगा। सत्यरूप अब तक सात महाद्वीपों की सात चोटियों और 7 ज्वालामुखी पर्वतों में से 6 ज्वालामुखी पर्वतों की चढ़ाई सफलतापूर्वक पूरी कर चुके हैं। दुनिया के सातों महाद्वीपों में सात चोटियों पर तिरंगा फहराने वाले सत्यरूप भारत के पांचवें नागरिक हैं।

इस समय सातों महाद्वीपों की सात चोटियों और सात ज्वालामुखी पर्वतों को सबसे कम उम्र में फतेह करने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के पर्वतारोही डेनियल बुल के नाम पर है। डेनियल बुल ने 36 साल 157 दिन की उम्र में यह उपलब्धि हासिल की थी। डेनियल बुल ने अर्जेंटीना-चाइल के बॉर्डर पर स्थित सबसे ऊंचे ज्वालामुखी पर्वत ओजोस डेल सालाडो पर चढ़ाई पूरी कर 27 अप्रैल 2017 को गिनीज बुक में अपना नाम दर्ज कराया था।

सत्यरूप जब 18 जनवरी को अंटाकर्टिका के सबसे ऊंचे ज्वालामुखी माउंट सिडले की चढ़ाई शुरू करेंगे तो उनकी उम्र 35 साल 9 महीने होगी। सत्यरूप ने हल ही में उत्तरी अमेरिका के ऊंचे ज्वालामुखी पर्वत माउंट पीको डि ओरिजाबा पर सफलता पूर्वक चढ़ाई की है। इससे पहले सत्यरूप सिद्धांत पापुआ न्यू गिनी में दूसरे सबसे ऊंचे पर्वतशिखर माउंट गिलुवे की चढ़ाई करने वाले पहले भारतीय बने थे। सत्यरूप 11 नवंबर को पापुआ न्यू गिनी में 4,367 मीटर की ऊंचाई पर पहुंचे थे।

Satyarup Siddhanta
माउंट एवरेस्ट के शीर्ष पर सत्यरूप सिद्धांत

पश्चिम बंगाल के निवासी सत्यरूप बचपन में अस्थमा से पीड़ित थे, जो इनहेलर से एक पफ लिए बिना 100 मीटर भागने में भी हांफ जाते थे, लेकिन अब वह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड में नाम दर्ज कराने से केवल कुछ कदमों की दूरी पर है। सत्यरूप का मानना है कि अगर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं और वित्तीय परेशानियों पर काबू पा लिया जाए तो दुनिया में कोई भी ताकत आपको अपने सपने को पूरा करने से रोक नहीं सकती।

पर्वतारोहण एक महंगा एडवेंचर स्पोटर्स है। सत्यरूप के सपनो को साकार करने के लिए समय-समय पर कॉरपोरेट समूहों से आर्थिक मदद भी मिलती रही है। अब तक मणिपाल ग्रुप, टाटा ट्रस्ट, वाओ मोमो, फेवरे-लियुबा, मेराक्वी, कुंज, एलॉयस, वेकफिट, सीएफआरसीई समेत अन्य कंपनियों ने सत्यरूप को पर्वतारोहण के लिए आर्थिक मदद दी है।

 

Web Title: Mountaineer Satyarup Siddhanta one step away from  breaking Guinness World Record

Tags: #Mountaineer Satyarup Siddhanta #Guinness World Record #Seven Summits #Seven Volcanic Summits