दिल्ली में देश के पहले रूफटॉप सोलर कारपोर्ट का उद्घाटन…

India's first rooftop solar carport in Delhi

नई दिल्ली: एनर्जी एफिशिएंट उपायों को अपनाने तथा रूफटॉप सोलर पावर जनरेशन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, भारत में बिजली वितरण क्षेत्र की अग्रणी कंपनी टाटा पावर-डीडीएल ने रोहिणी स्थित यूनिटी वन मॉल में 300 किलोवाट के रूफटाफ सोलर पावर कारपोर्ट का उद्घाटन किया। इस प्लांट से हर साल 4,20,000 यूनिट ग्रीन एनर्जी का उत्पादन होने की संभावना है जिससे मॉल के दैनिक परिचालनों को अंजाम दिया जाएगा। इससे हर साल करीब 438 मैट्रिक टन कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन में कमी आएगी तथा बिजली बिलों में भी सालाना 50 लाख रु की बचत होने का अनुमान है। प्लांट के पूरे जीवनचक्र में कुल 12 करोड़ रु की बचत होगी। टाटा पावर-डीडीएल और टाटा पावर सोलर ने नेशनल एक्शन प्लान ऑन क्लाइमेट चेंज के तहत संयुक्त रूप से प्लांट लगाया है।

दिल्ली सरकार के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने इस प्लांट का उद्घाटन किया। इस अवसर पर दिल्ली विधानसभा के विधायक मोहिंदर गोयल, टाटा पावर-डीडीएल और टाटा सोलर तथा यूनिटी मॉल के वरिष्ठ अधिकारीगण, दिल्ली सरकार के ऊर्जा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के अधिकारीगण तथा उद्योग के अन्य प्रमुख कर्मी भी उपस्थित थे।

रूफटॉप सोलर पावर इंस्टॉलेशन के लिहाज से शॉपिंग मॉल काफी अच्छे होते हैं क्योंकि इनमें काफी बड़ी छतें होती हैं। प्रायः दिन के समय इनमें पीक डिमांग होती है और यही समय पीक सोलर जेनरेशन का भी है, जो कि इन शॉपिंग अड्डों को सौर ऊर्जा के जरिए अपनी बिजली की जरूरतों को पूरा करने का मौका देता है। सोलर पावर प्लांट के रखरखाव पर काफी कम खर्च आता है और यह दो दषकों से भी अधिक की अवधि के लिए भरोसेमंद बिजली सप्लाई सुनिश्चित करता है तथा सालाना मूल्यह्रास 1 फीसदी से भी कम होता है।

कमर्शियल संस्थापनाएं जैसे मॉल, अस्पताल, शैक्षिक संस्थान आदि टाटा पावर-डीडीएल की मदद से अपने परिसरों में सोलर रूफटॉप प्लांट स्थापित कर सकते हैं। टाटा पावर-डीडीएल को इस संदर्भ में सोलर फोटो वोल्टैक प्रोजेक्ट्स के लिए नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय से ‘सोलर पावर 1ए’ रेटिंग प्राप्त हुई है और कंपनी मंत्रालय की पहली यूटिलिटी चैनल पार्टनर के तौर पर पैनलबद्ध है। यह सर्वोच्च ग्रेडिंग सोलर पीवी प्रोजेक्ट्स के लिए सिस्टम इंटीग्रेशन करने की टाटा पावर-डीडीएल की ‘अधिकतम कार्य क्षमता’ तथा ‘अधिकतम वित्तीय ताकत’ की सूचक है।

ग्रिड कनेक्टेड, रूफटॉप आधारित पीवी पावर प्लांट का जीवनचक्र 25 वर्षों का है और 1 किलोवाट पीवी पावर प्लांट साल में 1400 यूनिटों तक का उत्पादन करेगा। सोलर प्रोजेक्ट्स के जरिए सभी श्रेणियों के उपभोक्ता -रेजिडेंशियल, कमर्शियल और इंस्टीट्यूशनों को अपने बिजली बिलों में बचत का भारी फायदा मिल सकता है। टाटा पावर-डीडीएल अपने ग्राहकों को अपनी इंपेनल्ड एजेंसियों के मार्फत संपूर्ण सेवाएं प्रदान करता है।

उद्घाटन अवसर पर टिप्पणी करते हुए प्रवीर सिन्हा, सीईओ एवं एमडी, टाटा पावर-डीडीएल ने कहा, “हम सोलर एनर्जी के प्रसार में काफी सक्रिय हैं और अपनी तरह का यह पहला सोलर कारपोर्ट प्लांट अधिकाधिक उपभोक्ताओं को सोलर रूफटॉप को अपनाने के लिए प्रेरित करेगा। हम सोलर पावर के इस्तेमाल को बढ़ावा देने की दिशा में अपने प्रयासों में तेजी जारी रखते हुए, भारत को सौर ऊर्जा के क्षेत्र में ग्लोबल लीडर बनाने के उद्देश्य से शुरू किए गए नेशनल सोलर मिशन के लिए योगदान जारी रखेंगे।”

 

Web Title: India’s First Rooftop Solar Plant at a Carport Commercial Mall Commissioned at Rohini

Tags: #Rooftop Solar Plant #Tata Power Delhi Distribution #Tata Power Solar

संबंधित खबरें